नोट बंदी के बाद से काले धन को छिपाने के लिए केजरीवाल ने दान देने वालों की लिस्ट गायब कर दी

Posted on Posted in Politics

देश की राजनीती में पारदर्शिता और ईमानदारी लाने का वादा करने वाली आम आदमी पार्टी का नया कारनामा सामने आया है।गौरतलब है कि आम आदमी पार्टी ने अपने आधिकारिक साइट से उन लोगों के नामों की लिस्ट हटा ली है जिन्होंने उन्हें चंदा दिया है।ये फैसला तब लिया गया है जब देश में नोटबंदी लागू है।

aap-donation

 

लोगों का कहना है कि ये इसलिए किया गया है ताकि अरविन्द केजरीवाल गैंग के पास से काला धन और काला धन वालों का नाम छुपाया जा सके।उनका कहना है कि जून से ही आम आदमी पार्टी को चंदा मिलने में भरी कमी आई हुई है।

 

aap-donation-1

 

ये खबर आम आदमी पार्टी ने दबाने की भरपूर कोशिश की मगर अरविन्द केजरीवाल के दोगले चेहरे का पर्दाफाश होने में ज़्यादा समय नही लगा।प्रशांत पटेल उमराव ने इस बात की पुष्टि की है कि इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने आम आदमी पार्टी को 3 नोटिस दिए थे उनके डोनेशन सम्बन्धी जानकारियों के विषय को लेकर,शायद यही वो कारण तो नही जिसकी वजह से आम आदमी पार्टी ने ऐसा किया हो?

 

aap-donation-3

 

ये पहला मौका नही है जब आम आदमी पार्टी ने एक बहुत बड़ा U-TURN मारा हो।शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार के खिलाफ 370 पेजों के सबूत हवा में लहराने वाले केजरीवाल की पार्टी ने साल 2014 में भी यही किया था जब शीला दीक्षित के भ्रष्टाचार सम्बन्धी जानकारियां आम आदमी पार्टी ने अपनी आधिकारिक साइट से हटा ली थी।

 

aap-donation-2

 

बहरहाल,आम आदमी पार्टी की इस हरकत से आम आदमी पार्टी और केजरीवाल के ऊपर बहुत से कटाक्ष किये जा रहे हैं और इस हरकत को ‘दलाल में काला’ बताया जा रहा है।😂
 
aap-donation-4