cartosat helped indian army

जानिए किसने की भारतीय सेना की मदद सर्जिकल स्ट्राइक में

Posted on Posted in Politics
4:25 pm

भारतीय सेना के द्वारा हाल ही में किये गए सर्जिकल स्ट्राइक में मोदी जी और भारतीय सेना की तो सभी तारीफ कर रहे हैं मगर इनके अलावा कोई और भी है जो तारीफ के काबिल है.

ये है भारत द्वारा छोड़ी गयी सॅटॅलाइट कार्टोसैट ( CARTOSAT ) जिनसे पाकिस्तान के इलाकों की तस्वीरें भारत को भेजी और भारतीय सेना ने उसका इस्तेमाल करके आतंकवादियों के ठिकानों का पता लगाया.

 

sartosat satellite indian army surgical strike

 

पहली बार आर्मी के किसी बड़े ऑपरेशन के लिए कार्टोसैट सैटलाइट्स का इस्तेमाल किया गया। आखिरी बार इस साल जून में कार्टोसैट सैटलाइट लॉन्च की गई थी। इसरो के सूत्रों के मुताबिक, लाइन ऑफ कंट्रोल पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक में आर्मी को सैटलाइट से मिली हाई रेजॉल्यूशन तस्वीरों से बड़ी मदद मिली।

 

इसरो के एक सूत्र ने बताया, ‘हम सेनाओं को तस्वीरें उपलब्ध कराते रहे हैं, खासकर आर्मी को। हालांकि मैं इस पर टिप्पणी नहीं कर सकता हूं कि बीते सप्ताह में हमने किसी खास दिन कोई खास तस्वीर भेजी थी। कार्टोसैट इमेज इसी उद्देश्य के लिए होती है और आर्मी ने इनका इस्तेमाल किया है।

 

Also READ  संघ बीजेपी क्या "मिशनरी मुस्लिम धर्मांतरण कुचक्र" का मुकाबला केवल विकास से करेंगे ?

 

जब अमेरिका ने कारगिल युद्ध के दौरान  सॅटॅलाइट तस्वीरें देने से मन कर दिया था भारत को 

गौर करने वाली बात यह है की भारत को कारगिल युद्ध के दौरान सॅटॅलाइट इमेज की जरुरत थी और तब भारत के पास अपना खुद का कोई सॅटॅलाइट नहीं था. और ऐसे में अमेरिका ने सॅटॅलाइट ( GPS ) की तस्वीरें देने से मन कर दिया था. उस समय अटल बिहारी वाजपेयी भारत के प्रधान मंत्री थी. उन्होंने कारगिल युद्ध के बाद ISRO ( इसरो ) को सॅटॅलाइट पर काम करने को कहा था. उसी की बदौलत हम आज किसी दूसरे देश पर न्रिभर नहीं है और खुद से तस्वीरें ले सकते हैं.

यह सैटलाइट केवल एरिया ऑफ इंट्रेस्ट (AOI) की तस्वीरें ही नहीं खींचता है बल्कि अंतरिक्ष से संवेदनशील इलाकों का विडियो भी रेकॉर्ड करके भेजता है।

देखिए इस वीडियो मे कैसे सेटिलाइट ने POK की तस्वीरें निकलीं

Related Posts

Also READ  उरी आतंकी हमले के संबंध में मनोहर पर्रिकर ने भी मानी अपनी गलती

Comments

comments