मोहम्मद शमी का धार्मिक कट्टरवादियों को एक ज़ोरदार तमाचा

Posted on Posted in Social Issues
अपनी पत्नी की ड्रेस को लेकर अनचाहे विवाद में घसीटे जा रहे टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने इस मामले पर भद्दी टिप्पणी करने वालों को करारा जवाब दिया है। शमी ने कहा है कि ऐसे लोगों को अपने अंदर झांकने की जरूरत है।
 
सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक और ट्विटर पर पत्नी के संग पोस्ट किए गए फोटो को लेकर उनके निजी मामलों पर कई लोगों ने टिप्पणी की थी। कुछ लोगों ने लिखा था कि आगे से शमी अपनी पत्नी की स्लीवलेस ड्रेस में फोटो शेयर न करें। कई लोगों ने तो उनकी पत्नी को सिर्फ हिजाब में फोटो खिंचवाने की सलाह दी थी।
 
इस पर मोहम्मद शमी ने ट्वीट किया है, ‘ये दोनों मेरी जिंदगी (पत्नी और बच्ची) और लाइफ पार्टनर हैं। मैं अच्छी तरह जानता हूं कि क्या करना है, क्या नहीं। हमें अपने अंदर देखना चाहिए। हम कितने अच्छे हैं।’
 
Ye dono meri zindage or life partner hai me acha trha janta hu kiya karna hai kiya nahi.hame apne andar dekhna chahiye ham kitna accha hai.👉
 
— Mohammed Shami (@MdShami11) December 26, 2016
 
एक और ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘वेरी गुड मॉर्निंग, हर किसी को जिंदगी में मुकाम नहीं मिलता, कुछ किस्मत वाले ही होते हैं जिन्हें ये नसीब होता है…! जलते रहो…’
 
Very good morning 😘
Har kisi ko jindagi mai mukam ni milta, kuch kismat wale hi hote hai jinhe ye nasib hota hai.!.jalteee rahooooo…
 
— Mohammed Shami (@MdShami11) December 26, 2016
 
shami reply to haters
 
 
आपको बता दें कि मोहम्मद शमी घुटनों की सर्जरी के बाद आराम कर रहे हैं। वह इसी वजह से इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम दो टेस्ट मैचों से बाहर थे। शमी ने अपनी पत्नी हसीन जहां के संग यह फोटो फेसबुक पर 23 दिसंबर को पोस्ट की थी। इस पर पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ भी शमी के समर्थन में आगे आए थे।
 
The comments are really really Shameful.
Support Mohammed Shami fully.
There are much bigger issues in this country. Hope sense prevails. pic.twitter.com/dRJO5WfOgU
 
— Mohammad Kaif (@MohammadKaif) December 25, 2016
 
कैफ ने लिखा था, ‘कॉमेंट बेहद ही शर्मनाक हैं। मोहम्मद शमी का समर्थन करें। इस देश में कहीं ज्यादा बड़े मुद्दे हैं। उम्मीद है कि समझ आगे बढ़ेगी।’
 
हम मोहम्मद शमी के इस निर्णय को साधुवाद करते हैं क्योंकि एक पंथनिरपेक्ष देश में धार्मिक कट्टरवाद की कोई जगह नही होती।
 
मशहूर लेखक और शेयर जावेद अख्तर ने भी मोहम्मद शमी का समर्थन करते हुए कहा है कि इस देश में सबको अपनी तरह से जीने का अधिकार है और कोई भी इस अधिकार को छीन नही सकता!सभी का अपना एक दायित्व है परंतु किसी के पकड़ों पर ऐसे भद्दे आक्षेप करना असहनीय और अशोभनीय है।मैं मोहम्मद शमी के पक्ष में खड़ा हूँ!