Talgo Train: Everything you need to know

Posted on Posted in Politics

उच्च गति, हल्के स्पेनिश मेड ट्रेन के कोाचों को भारतीय रेल द्वारा दिल्ली-मुंबई मार्ग परीक्षण के लिए दौड़ाया गया.  ट्रेन लगभग 90-100 किमी / घंटा की औसत गति से चलाता है और 130-150 किमी / घंटा की अधिकतम गति प्राप्त कर सकते हैं । ट्रेन मे नौ कोच होंगे जिनमें से जो दो एग्ज़िक्युटिव श्रेणी के डिब्बे , चार सामान्य श्रेणी के डिब्बे , एक कैफेटेरिया , एक पॉवेर कार और एक टेल एंड कोच शामिल है।

talgo-India

एग्ज़िक्युटिव क्लास के प्रत्येक कोच में 20 सीट है। प्रीमियम सीटों विशाल हैं और पर्याप्त जगह है और पावो को भी काफ़ी आराम रहेगा| भोजन और अन्य वस्तुओं को रखने के लिए एक लकड़ी के खीचने वाली मेज है। सीटों के उपर भी सामान समान रखने की पर्याप्त व्यवस्था है। उपर ही एक डिसप्ले पॅनल होगा जिसमे ट्रेन की गति , लोकेशन की जानकारी दी जाएगी.

Talgo-India-1

सामान्य डिब्बे मे 36 लोगों को बैठने की व्यवस्था हैं। सीटों एग्ज़िक्युटिव क्लास जैसी तो नहीं हैं लेकिन वे आरामदायक हैं और पाव रखने के लिए काफ़ी जगह है। टेबल भी काफी बड़े हैं।

Talgo-India-3
कैफेटेरिया मे चाय, कॉफी , बर्गर और डोनट्स उपलब्ध रहेगा। हालांकि, अगर टाल्गो कोचों का भारतीय रेल द्वारा उपयोग किया जाता है , तो कैफेटेरिया को भारतीय आवश्यकताओं के अनुरूप बदले जाने की आवश्यकता हो सकती है ।

Talgo-India-4